शुक्रवार, 16 अगस्त 2019

श्री राहुल उरकुड़े -श्री जीतेन्द्र फटिंग गढ़ रहे हैं राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी गांव में

"वंदे मातरम" स्पोर्ट्स एंड फिजिकल ट्रेनिंग सेंटर उमरानाला  को बनाया खिलाड़ी गढ़ने का गढ़
--------------
अभी तक कई खिलाड़ी  पहुंचे  राज्य और राष्ट्रीय स्तर तक
---------------
भोपाल। श्री राहुल उरकुड़े -श्री जीतेन्द्र फटिंग 
"वंदे मातरम" स्पोर्ट्स एंड फिजिकल ट्रेनिंग सेंटर उमरानाला  में राज्य और राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी  गढ़ रहे हैं । यह कार्य वे स्वयं अपनी मेहनत और लगन के चलते कर रहे हैं। इस कार्य के लिए उन्हें राज्य और केंद्र सरकार से कोई आर्थिक सहयोग नहीं मिलता है।

इन दोनों प्रशिक्षकों के जोश,जुनून और जज्बे को देख कर मन-मस्तिष्क श्रद्धा से झुक जाता है कि वे स्वयं अपने खर्च पर एक प्रशिक्षण केंद्र संचालित कर रहे हैं और गांव के बच्चों को गढ़कर उन्हें राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचा रहे हैं।

इन दोनों प्रशिक्षकों की विशेषता यह भी है कि वे खेल के साथ-साथ बच्चों की शिक्षा पर भी विशेष ध्यान देते हैं और इसके लिए वे स्पेशल क्लासेज लगाते हैं ।इसका यह असर हुआ कि बच्चे खेल के साथ- साथ पढ़ाई में भी अच्छा प्रदर्शन कर पा रहे हैं।

यहां  वालीबाल, टेबल-टेनिस , शतरंज, बैडमिंटन ,कबड्डी ,फुटबॉल, कुश्ती जैसे कई खेलों में खिलाड़ियों को पारंगत किया जा रहा है। अभी तक कु प्रतिमा डोंगरे,शिवानी चौधरी, खेमेंद्र डोंगरे,कु चेतना डोंगरे, कु कृतिका धारे, कु रितु धारे, आदि राज्य और राष्ट्रीय स्तर तक पहुंच कर अपने गांव का नाम रोशन कर चुकी हैं।

ओलम्पिक खेलों में एक -एक मेडल के लिए देश को तरसते देखा है ऐसे में उमरानाला का खेल में देश के मानचित्र पर उभरना देश के लिए नई उम्मीद जगाता प्रतीत होता है।
"सुखवाड़ा" आप दोनों प्रशिक्षकों के जोश,जुनून और जज्बे को नमन करता है और आपके इस समर्पण त्याग और तपस्या का आपको अच्छा प्रतिसाद मिले ऐसी कामना करता है।

आपका "सुखवाड़ा" ई-दैनिक और मासिक।


कोई टिप्पणी नहीं: