बुधवार, 14 अगस्त 2013

14 अगस्त, 1947 : छिंदवाड़ा में आजादी की वो रात

छिंदवाड़ा में देश की आजादी का पर्व 14 अगस्त, 1947 को रात्रि 12 बजे से शुरू हुआ था। नगर के बीचों बीच स्थित मोती बाजार (छोटी बाजार) से महिलाओं का एक विशाल जूलूस श्रीमती दुर्गा बाई मांजरेकर के नेतृत्व में निकला था। जिसमें एक विशाल तिरंगा ध्वज लहराते हुए लोगों का अभिनंदन किया जा रहा था।

यह कोई आयोजित जुलूस नहीं था। बल्कि जनता जनार्दन और वो भी महिलाओं के द्वारा आजादी के ऐतिहासिक पल को अपनी भावनाओं से भर कर जनता को एहसास कराने के लिए निकाला गया था। तब शहर भी बहुत छोटा सा था।

छोटी बाजार से बुधवारी बाजार और वहां से वापस हुआ था जूलूस। क्या नजारा रहा होगा! हर घर में तिरंगा लहरा रहा था। और उस रात को जो शहर जागा तो दूसरे दिन 15 अगस्त को हर स्कूल सरकारी कार्यालय में तिरंगा फहराया गया था।

साभार- वरिष्ठ पत्रकार गुणेंद्र दुबे जी के फेसबुक वॉल से, 14 अगस्त, 2013

कोई टिप्पणी नहीं: