बुधवार, 26 दिसंबर 2012

वक्त से पहले वक्त से आगे कमलनाथ का छिन्दवाड़ा


विकास का श्रेष्ठतम स्वरूप है छिन्दवाड़ा !

उद्योग क्षेत्र-
1 पैक हाउस अठारह करोड़ की लागत से बने मोहखड विकास खण्ड के ग्राम तन्सरामाल में संतरा उत्पादक किसानों के लिए निर्मित।
2 मसाला पार्क-20 करोड़ की लागत से मसाला फसलों के उत्पादक किसानों को उनकी कृषि उपज का उचित मूल्य दिलवाने तथा रेाजगार उपलब्ध कराने की दृष्टि से निर्मित।
3 टेक्सटाईल्स पार्क-400 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले टैक्सटाईल्स पार्क के साथ में 40 मेगावाट विद्युत परियोजना एक साथ संचालित करने का दृढ़ संकल्प।
औद्योगिक क्षेत्र-
1. हिंदुस्तान युनिलिवर की स्थापना 2. रेमण्ड की स्थाना 3. भंसाली की स्थाना 4. ब्रिटानिया की स्थापना, 5. सूर्यवंशी स्पिनिंग मिल की स्थापना, 6. पीबीएम पॉलीटेक्स की स्थापना 7. क्योरबर्थ लिमिटेड की स्थापना 8. ऑटोमेटेड सेंटर फॉर टेस्टिंग इंसपेक्शन ऑफ व्हीकल्स की स्थापना इन फेेक्ट्रियों में जिले के युवा वर्ग को रोजगार दिलवाया गया है। साथ ही 10-12 वीं पास युवाओं के लिए कमलनाथ जी द्वारा देश की नामी गिरामी कंपनियों में रोजगार उपलब्ध कराकर उन्हें सक्षम बनाने का प्रयास किया गया है। छिंदवाड़ा शहर में जानी मानी कंपनियों के कैंपस लगाकर उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया गया।

सड़क सुविधाएं-सड़कों के महाजाल में छिंदवाड़ा जिला देश में प्रथम जिला है। 1. राष्ट्रीय राजमार्ग को छिंदवाड़ा से जोडऩे के लिए रिंग रोड का निर्माण राशि 1433 करोड़ रूपये स्वीकृत रूपये स्वीकृत। नरसिंहपुर से छिंदवाड़ा मार्ग, मुलताई से छिंदवाड़ा सिवनी बाईपास, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत 400 से 800 तक की जनसंख्या वाले आदिवासी व गैर आदिवासी ग्रामों में ग्रामीण सड़कों का निर्माण स्वीकृत। छिंदवाड़ा शहर के चारफाटक रेलवे क्रॉसिंग छिंदवाड़ा से सिवनी मार्ग पर फ्लाईओवर ब्रिज का निर्माण कार्य, छिंदवाड़ा के ग्राम ईमलीखेड़ा में अण्डरब्रिज का निर्माण पाण्डुर्ना रिंग रोड हेतु 23 करोड़ की योजना स्वीकृत कार्य, भारत सरकार के उपक्रम एनटीवीसी और एनबीसी के द्वारा एक करोड़ दस लाख रूपये की राशि पाण्ढुर्ना, सौंसर एवं बिछुआ की विभिन्न सड़कों हेतु स्वीकृति, डब्ल्यूसीएल के मार्फत सीएसआर पर छिंदवाड़ा जिले में करोड़ों रूपये की सड़कों का महाजाल शीघ्र प्रारंभ, एनटीपीसी तथा एनबीसीसी एवं पावरग्रिड ईपीआई, बीएचईएल के द्वारा छिंदवाड़ा जिले में करोड़ों रूपये की सड़कों का महाजाल शीघ्र प्रारंभ, एनटीपीसी तथा एनबीसीसी एवं पावरग्रिड ईपीआई बीएचईएल के द्वारा छिंदवाड़ा जिले में आंतरिक सड़कों का कार्य शीघ्र प्रारंभ। ग्रामीण अंचलों एवं पिछड़े क्षेत्रों के विकास हेतु आईएपी एकीकृत कार्य योजना प्रति वर्ष तीस करोड़ की राशि एवं बीआरजीएफ (बैकवर्ड रीजन ग्रांट फंड) चालीस करोड़ अतिरिक्त राशि पिछड़े क्षेत्रों के विकास हेतु प्रतिवर्ष केन्द्र सरकार द्वारा सौगात दिलाई गयी।

विस्तृत पढ़ने के लिए  यहां क्लिक कीजिए
साभार- उगता भारत

कोई टिप्पणी नहीं: