सोमवार, 24 अक्तूबर 2011

दिल्ली से चल पड़ी छिंदवाड़ा की ट्रेन...

दिल्ली से चल पड़ी छिंदवाड़ा की ट्रेन... दिल्ली के रेलवे स्टेशन में भी गूंजने लगा छिंदवाड़ा का नाम .... । नई दिल्ली के सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन से छिंदवाड़ा के लिए दो सीधी ट्रेनें चल रही है। पिछले संडे हम पहली बार इस स्टेशन पर पहुंचे। साथ में थे भाई अमिताभ अरुण दुबे और अनुज राधेश्याम डोंगरे।

स्टेशन पर पहुंचकर बहुत अच्छा लगा। एकदम शांत और भीड़-भाड़ से दूर जगह थी। मयूर विहार फेस - ३ से ऑटो किया था। पहुंचते ही अनाउंसमेंट हुआ छिंदवाड़ा जाने वाली कान्हनवेली एक्सप्रेस प्लेटफार्म नं. ३ पर खड़ी है। सुनकर मन प्रफुल्लित हो गया। प्लेटफार्म भी खाली था। और ट्रेन भी। लोग कह रहे थे रिजर्वेशन कराने की भी जरूरत नहीं है।

एक अच्छी बात यह रही कि छिंदवाड़ा के लोग यहां मिले। एक बंदा उमरानाला का भी था। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से आगे न्यू रोहतक रोड पर यह स्टेशन है। करोलबाग से आगे।

यहां से दो ट्रेन चल रही है। कान्हनवेली एक्सप्रेस और पातालकोट एक्सप्रेस। छिंदवाड़ा, पातालकोट और सतपुड़ा की हरी भरी वादियों में भ्रमण करने वाले पर्यटकों के लिए ये ट्रेनें सौगात ही है। दोपहर १२.२० पर यहां से निकलने वाली ट्रेन छिंदवाड़ा दूसरे दिन सुबह ९.५० बजे पहुंच जाएगी।

तो कीजिए छिंदवाड़ा की सैर...।

और हम सब को हैप्पी दिवाली।

गुरुवार, 13 अक्तूबर 2011

सड़कें अच्छी नहीं, सो हेलीकाप्टर से छिंदवाड़ा जाएंगे आडवाणी


भोपाल - मध्यप्रदेश में सड़कों की हालत चूंकि ठीक नहीं है, लिहाजा जनचेतना यात्रा पर निकल रहे भाजपा के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी भोपाल से छिंदवाड़ा की 300 किलोमीटर की दूरी हेलीकाप्टर से तय करेंगे। भाजपा ने अपने वयोवृद्ध नेता की अवस्था को ध्यान में रखकर यह निर्णय लिया है।

आडवाणी की जनचेतना यात्रा मंगलवार से शुरू हो रही है। उनका रथ 13 अक्टूबर को मप्र की सीमा में प्रवेश करेगा। 16 अक्टूबर को भोपाल पहुंचने का कार्यक्रम है। यहां एक जनसभा को संबोधित करने के बाद आडवाणी हेलीकाप्टर से छिंदवाड़ा रवाना हो जाएंगे और वहां से उनकी यात्रा महाराष्ट्र में दाखिल हो जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष प्रभात झा उन्हें विदा करने छिंदवाड़ा तक उनके साथ जाएंगे।

सूत्रों का कहना है कि भाजपा ने भोपाल से छिंदवाड़ा जाने वाले मार्ग की हालत देखकर हेलीकाप्टर का सहारा लेने का फैसला लिया। यदि सड़क की स्थिति अच्छी होती तो आडवाणी निसंदेह सड़क मार्ग से ही छिंदवाड़ा जाते। चूंकि वक्त कम है और सड़क सुधर नहीं सकती, इसलिए हेलीकाप्टर को माध्यम बनाने का निर्णय लिया गया। हालांकि रीवा के हनुमना से लेकर जबलपुर और होशंगाबाद से भोपाल आने वाली सड़कों को दुरुस्त करने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। आलम यह है कि राजधानी भोपाल में ही मिसरोद से टीटी नगर दशहरा मैदान तक की सड़क पर 20 लाख रुपये खर्च हो रहे हैं। इसी दशहरा मैदान पर 16 अक्टूबर को आडवाणी की सभा है। इसी तरह होशगाबाद से बुधनी होते हुए भोपाल तक की सड़क की मरम्मत पर करीब एक करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। इस काम में पीडब्ल्यूडी और नगरीय निकाय जुटे हुए हैं। इंजीनियरों से कहा गया है कि वह तीन दिन पहले ही सड़कों को ठीक कर लें।

सूत्रों का कहना है कि काम इतनी तेजी से हो रहा है कि होशगाबाद से भोपाल तक के जर्जर नेशनल हाईवे पर गड्ढे भरे जाने के अलावा डामर की पतली परत भी बिछाई जा रही है। यह अलग बात है कि बड़े वाहनों का लोड उठाने वाली यह सड़क दो-चार दिन बाद फिर पुरानी अवस्था में आ जाएगी।

GNN News, Oct 11th, 2011