गुरुवार, 2 सितंबर 2010

फिल्मवालों को लुभाती रही है छिन्दवाड़ा की सरजमीं


छोटे और बड़े परदों के निर्माता-निदेशकों को छिन्दवाड़ा की सरजमीं हमेशा से लुभाती रही है। छिन्दवाड़ा जिले में फिल्म, सीरियल और कई टीवी डाक्यूमेंट्री की शूटिंग हुई है।

देव आनंद और मुमताज की 'तेरे मेरे सपने' फिल्म की हुई शूटिंग
सन 1971 में बॉलीवुड में बनी मशहूर फिल्म 'तेरे मेरे सपने' की शूटिंग यहां हुई थी। इस फिल्म के प्रमुख कलाकार देव आनंद और मुमताज थे। इसका फिल्मांकन कोलमाइन्स एरिया न्यूटन चिखली में हुआ था। इस शहर के एक स्कूल में फिल्म का एक दृश्य फिल्माया गया था। तब से इस स्कूल को मुमताज के स्कूल के रूप में जानते हैं।
फिल्म 'तेरे मेरे सपने' की डेढ़ माह तक कोयला खदानों वाले इस क्षेत्र में शूटिंग हुई थी। देव आनंद और मुमताज को लेकर स्थानीय लोगों की यादें अब भी धुंधली नहीं हुई हैं। प्राइमरी स्कूल के प्रांगण में एक पेड़ के नीचे पढ़ाने का दृश्य मुमताज पर फिल्माया गया था।


टीवी डाक्यूमेंट्री में दिखा पातालकोट और गोटमार मेला
तामिया के नजदीक स्थित पातालकोट में भी कई टीवी डाक्यूमेंट्री प्रोग्राम की शूटिंग हुई है। जैसे मशहूर दूरदर्शन धारावाहिक सुरभि आदि। पातालकोट की अनोखी दुनिया और यहां की संस्कृति को कई कार्यक्रमों में दिखाया गया है। सुरभि प्रोग्राम में देश-विदेश में सुप्रसिद्ध पांढुर्णा के गोटमार मेले को भी फिल्माया गया है।

दूसरी बॉलीवुड फिल्म की शूटिंग जल्द !
अब जल्द ही दूसरी फिल्म की शूटिंग छिन्दवाड़ा में होने वाली है। अपुष्ट सूत्रों के मुताबिक डायरेक्टर कुंदन शाह अपनी नई फिल्म की स्टोरी पर काम कर रहे हैं। जिसकी शूटिंग छिन्दवाड़ा में होगी। मशहूर निदेशक और राइटर कुंदन शाह इससे पहले शाहरुख खान अभिनीत कभी हां कभी ना, प्रीति जिंटा अभिनीत क्या कहना, दिल है तुम्हारा जैसी कई फिल्में बना चुके हैं। शाह ने मशहूर टीवी सीरियल नुक्कड़ का भी निर्देशन किया था।