शुक्रवार, 6 जून 2008

छिंदवाड़ा में देश का पहला मसाला पार्क

देश का पहला मसाला पार्क छिंदवाड़ा में बनकर तैयार

शशिकांत त्रिवेदी / भोपाल May 25, 2008

देश का पहला मसाला पार्क अगले माह से मध्य प्रदेश के छिंदवाडा में शुरु हो जाएगा। इस पार्क में लहसुन के प्रसंस्करण, मिर्च के सत और आपूर्ति के अलावा सब्जियों में भाप के द्वारा जीवाणुनाशन भी किया जाएगा।


इस मसाला पार्क के बोर्ड के एक अधिकारी ने बिजनेस स्टैंडर्ड को बताया कि 'लहसुन प्रसंस्करण के लिए आवश्यक सिविल वर्क पूरा कर लिया गया है। इसके अलावा लहसुन के निर्जलीकरण और पाउडर बनाने का काम अगले माह से शुरु किया जाएगा।'


उन्होंने बताया कि 'हमनें इसके लिए हरी मिर्च के सैंपल बोर्ड के मुख्यालय में परीक्षण के लिए भेजे है।' परीक्षण के बाद बोर्ड द्वारा प्लांट के आकार और मशीनरी का आकलन किया जाएगा। इस प्लांट में प्रति दिन 6 टन लहसुन का निर्जलीकरण और 0.75 टन मिर्च का सत तैयार किया जाएगा। वैसे न तो छिंदवाड़ा में लहसुन निर्जलीकरण भारी मात्रा में होता है और न ही मिर्च की खेती की जाती है। जनजातीय बहुल यह क्षेत्र सब्जी की खेती के अतिरिक्त अन्य विकल्पों को तलाश रहा है।


इस पार्क के अधिकारियों का कहना है कि पार्क के स्थापित होने से किसानों को काफी फायदा पहुंचेगा। इस पार्क से मसालों के निर्यात के साथ घरेलू बाजार की मांगों की पूर्ति भी की जाएगी। मध्य प्रदेश के उज्जैन, देवास, धार, मंदसौर, गुना, राजगढ़, रतलाम और खंडवा जिलों में लहसुन की खेती की जाती है। इस कारण कुछ साल पहले इन क्षेत्रों में एक कृषि निर्यात क्षेत्र की स्थापना की बात कही गई थी।


http://hindi.business-standard.com/hin/storypage.php?autono=3792

कोई टिप्पणी नहीं: